एसडीम बनने का सबसे चौंकानेवाले तरीका जानिए 2024 | sdm kaise bane

sdm kaise bane

sdm kaise bane in hindi : नमस्कार दोस्तों आज इस लेख में हम आपको sdm officer kaise bane इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं किसी जिले के प्रशासनिक अधिकारियों की जब भी बात की जाती है तो अपने Sdm शब्द जरूर सुना ही होगा। 

यदि आप जानना चाहते हैं कि SDM बनने के लिए कौन सी तैयारी करनी होती है ,क्या-क्या योग्यताएं चाहिए होती हैं, आवेदन प्रक्रिया कैसे की जाती है तो आज का यह लेख आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होगा।

हर साल लाखों विद्यार्थी SDM की नौकरी के लिए UPPSC और Sate PSC Exam के लिए आवेदन फॉर्म भरते हैं और परीक्षा देते हैं लेकिन आप सभी जानते हैं कि यह दोनों परीक्षाएं भारत की कठिन परीक्षाओं के अंतर्गत आती है तो कुछ ही विद्यार्थी इन परीक्षाओं में सफल हो पाते हैं।

हर कोई अपने देश की सेवा करना चाहता है इसलिए कई विद्यार्थी SDM, IAS Officer , IPS Officer बनने का सपना देखते हैं। लेकिन इस पद को पाने के लिए धैर्यता की जरूरत होगी क्योंकि यह रास्ता आसान नहीं होता है तो चलिए जानते हैं कैसे आप एसडीएम (sdm kaise bane) बन सकते हैं।

Table of Contents

sdm kaise bane – Overview

Name Of the Article Sdm Kaise bane
Type of ArticleCareer
Year 2024
Sdm full formSub divisional magistrate
Sdm SalaryGoverment depend
Detailed InformationPlease Read The completely Article

एसडीम ऑफिसर कौन है | sdm Officer Kon hota hai

दोस्तों जैसे कि एसडीएम के नाम से ही पता चलता है कि यह Divisional Magistrate Officer होता है जिसे हम दूसरी भाषा में यह कह सकते हैं कि यूपीएससी परीक्षा को पास करने के बाला भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी होता है। 

यूपीएससी परीक्षा को पास करने के बाद जब उसकी ट्रेनिंग चलती है तब उस विद्यार्थी को एसडीएम के रूप में सिलेक्ट किया जाता है इसके बाद ही उसे डिप्टी या असिस्टेंट कलेक्टर या असिस्टेंट कमिश्नर के रूप में पहचाना जाता है।

इसके अलावा यदि कोई परीक्षार्थी स्टेट पब्लिक सर्विस कमिशन की परीक्षा देता है और अच्छी रैंक हासिल कर लेता है तो वह एसडीएम पद केलिए चुना जा सकता है।

Read Also – ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने | gram vikas adhikari kaise bane

SDM Full Form (एसडीएम का फुल फॉर्म)

एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए आपको एसडीएम का पूरा नाम पता होना चाहिए। वैसे तो एसडीएम का फुल फॉर्म Sub divisional magistrate होता है और हिंदी में इसका अर्थ निकाला जाए तो इसे उप प्रभागीय मजिस्ट्रेट कहा जाता है।

Read Also – ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने | gram vikas adhikari kaise bane

एसडीएम से ऊपर कौन होता है?

दोस्तों DM का नाम तो आपने सुना ही होगा वह जिले का सबसे बड़ा अधिकारी होता है डीएम का पूरा नाम डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट होता है जिसके हाथों में पूरे जिले की कमान होती है। एसडीएम से बड़ा अधिकारी डीएम कहलाता है एसडीएम भी प्रमोशन लेने के बाद Dm बन जाता है।

Read Also – जीएनएम नर्सिंग कोर्स क्या है,कैसे करें | GNM Course Details in Hindi 

SDM कैसे बने | SDM Kaise Bane in Hindi

यदि आपका सपना है कि आप एसडीएम बने तो इसके लिए आपको यूपीएससी के अंतर्गत होने वाली CSE परीक्षा को पास करना होगा। इस परीक्षा के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। तब जाकर आप एक आईएएस अधिकारी बन जाएंगे IAS अधिकारी बनने के बाद ट्रेनिंग दी जाएगी और ट्रेनिंग के बाद पहला पद एसडीएम का ही मिलेगा।

Read Also – ANM Course क्या है,कोर्स के बारे में जानकर हैरान हो जाएंगे | ANM Course details in Hindi 2023

SDM बनने के लिए योग्यता | Sdm ban Ne ke leye Qualification 

दोस्तों एसडीएम बनने के लिए कुछ योग्यताओं का होना बहुत जरूरी है।

  • जो व्यक्ति आवेदन कर रहा है वह भारत का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक का ग्रेजुएशन कंप्लीट होना चाहिए।
  • यदि कोई विद्यार्थी ग्रेजुएशन कर रहा है उसका लास्ट ईयर है तो वह इस परीक्षा में बैठ सकता है।
  • एसडीएम बनने के लिए किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन कर सकते हैं।
  • यदि कोई बिना ग्रेजुएट विद्यार्थी इस परीक्षा में बैठता है तो वह केवल प्रिलिम्स की परीक्षा दे सकता है।

Read Also – एमबीए कोर्स क्या है, संपूर्ण जानकारी | MBA Course Details in Hindi 2023 

SDM बनने के लिए आयु सीमा | (sdm ke leye Age Limit)

इस परीक्षा में आवेदक की आयु सीमा अलग-अलग होती है।

  • यदि कोई सामान्य वर्ग का उम्मीदवार इस परीक्षा में आवेदन करता है तो उसकी उम्र 21 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए एसटी/एससी वर्ग के लोगों के लिए उम्र 21 से 37 वर्ष निर्धारित की गई है।
  • वही कोई व्यक्ति पीसीएस के लिए आवेदन करता है तो उसके लिए भी अलग-अलग आयु सीमा तय की गई है।
  • इस परीक्षा में कई तरह केआरक्षण दिए जाते हैं जैसे की बौद्धिक, विकलांगता, लोकोमोटर विकलांगता किसी बीमारी से पीड़ित व्यक्ति बहरापन जन्मांध व्यक्तियों को 42 साल तक की उम्र में आवेदन करने की छूट दी जाती है।
Casteआयुसीमा 
सामान्य वर्ग21 से 32 वर्ष
एससी/एसटी वर्ग21 से 37 वर्ष
ओबीसी वर्ग21 से 35 वर्ष

SDM का पद कैसे मिलता है | Sdm Officer Post Kaise milti hai

संघ लोक सेवा आयोग या स्टेट पब्लिक सर्विस कमिशन के द्वारा आवेदकों का पहला प्रीलिम्स लिया जाता है प्रीलिम्स केवल क्वालीफाइंग पेपर होता है इसके मार्क्स कहीं भी नहीं जोड़े जाते हैं उसके बाद उस आवेदक को मुख्य परीक्षा देनी होती है।

यदि वह इस परीक्षा को पास करने के बाद भी यह सिलसिला यहां खत्म नहीं होता है इसके बाद आती है सबसे कठिन चढ़ाई जिसे इंटरव्यू कहा जाता है।

Read Also – डीएमएलटी कोर्स क्या है, कैसे करें | DMLT Course Details in Hindi 2023

उसके बाद उसका इंटरव्यू लिया जाता है इंटरव्यू में यदि वह सेलेक्ट हो जाता है तो इसके बाद उसे आवेदक को इस यापीसीएस बनने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।

ट्रेनिंग पूरी करने के बाद Catter एलॉटमेंट राज्यों में उन्हें एसडीएम का पद दिया जाता है और जिस विद्यार्थी ने पीसीएस अच्छी रैंक से पास की है तो उसे भी एसडीएम का पद मिल जाता है।

Read Also – समीक्षा अधिकारी क्या होता है | samiksha adhikari Kaise bane 

एसडीएम को मिलने वाली सुविधाएं और सैलरी | sdm ki salary kitni hoti hai

दोस्तों आप समझ सकते हैं कि जिस व्यक्ति के हाथों में पूरे जिले की बागडोर होती है उसे सरकार द्वारा कितनी सुविधाएं दी जाती होगी सुविधा की बात की जाए तो एसडीएम को रहने के लिए सरकारी घर काम करने के लिए हेल्पर उसकी सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मी ,सरकारी वाहन, फ्री बिजली, एक टेलीफोन कनेक्शन.

उसके अलावा जब भी वह किसी आधिकारिक यात्रा के दौरान कहीं रुकता है तो आने जाने की सुविधा और हायर एजुकेशन के लिए छुट्टी का प्रावधान साथी जब रिटायरमेंट दिया जाता है तो पेंशन की सुविधा भी एसडीएम को मिलती है।

अब बात करते हैं सैलरी की एसडीएम का शुरुआती वेतन लगभग 56100 रुपए के आसपास होता है लेकिन इसमें कई तरह के भत्ते भी जोड़े जाते हैं।

Read Also – Google Me Job Kaise Paye – जानिए गूगल पर बिना किसी मेहनत के जॉब कैसे पाएं

SDM के क्या क्या कार्य होते है | sdm ke kya kam hote hain 

किसी भी राज्य के अंतर्गत आने वाले जिलों में एसडीम की पोस्ट रिक्त है तो उसे जिले का नियंत्रण करना मुश्किल हो जाता क्योंकि एक जिले मैं एसडीएम का होना बहुत जरूरी होता है। ताकि उसे जिले में बढ़ते हुए अपराधों पर नियंत्रण किया जा सके और सभी कामों को सही ढंग सेपूरा किया जा सके तो चलिए जानते हैं कि एसडीएम के कार्य क्या-क्या होते हैं।

  • किसी भी राज्य के अंतर्गत आने वाले जिले और उसके विकास करो में प्रशासनिक व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी एसडीएम की होती है साथ ही बढ़ते हुए अपराधों और नकारात्मक प्रतिक्रियाओं को रोकने का जमा भी एसडीएम के कंधों पर ही होता है।
  • एक एसडीएम ऑफिसर के द्वारा ही किसी विभाग के लाइसेंस को जारी रखने या उसे सत्यापन करने की जिम्मेदारी होती है।
  • एक एसडीएम ऑफिसर के द्वारा ही विकास खंड स्तरीय आपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 और भी कई तरह के कामों की जिम्मेदारी एसडीएम को दी जाती है।
  • किसी भी जिले की जनता के हित के लिएऔर कानूनी व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसडीएम अधिकारी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखना न्यायिक मामलों पर ध्यान देना प्रशासनिक व्यवस्थाओं की देखरेख करना सब एसडीएम की ही जिम्मेदारी होती है।
  • जितनी भी विवाह रजिस्ट्रेशन संबंधित योजनाओं का संचालन किया जा रहा है उन सभी योजनाओं से संबंधित गतिविधियों की व्यवस्था बनाए रखना भी इन्हीं की जिम्मेदारी होती है।
  • देश और प्रदेश में होने वालेलोकसभा और विधानसभा चुनाव के सदस्यों को चुनने के लिएजो काम किए जाते हैं उनमें एसडीएममहत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Read Also – Railway me Job Kaise Paye -12वीं के बाद अब रेलवे में नौकरी पक्की सीधा तरीका खोजें

SDM बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी पड़ती है | sdm banne ke liye konse exam hoti hai

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा हर साल एसडीएम पद के लिए परीक्षा ली जाती है इस परीक्षा में हर साल लगभग 8 से 10 लाख विद्यार्थी भाग लेते हैं लेकिन केवल 300 से 400 विद्यार्थी ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं।

वर्तमान समय में कंपटीशन बहुत तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में आपको पहले ही अपना गोल सेट करना होगा कि आगे चलकर आपको एसडीएम बना ही है तब आप 10वींकक्षा को पास करने के बाद से ही इसकी तैयारी शुरू करें।

जैसे ही आप कक्षा 12वीं को पास करते हैं और किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद इस परीक्षा के लिए पेपर दे सकते हैं। संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली इस परीक्षा में  सबसे पहले आपको प्रीलिम्स को क्वालीफाई करना होगा क्वालीफाई करने के लिए आपसे Objective Type Question पूछे जाते हैं।

Read Also – जानिए, गूगल आपका नाम कैसे बताएगा | Google Mera Naam Kya Hai

प्रीलिम्स क्वालीफाई करने के बाद आपको मुख्य परीक्षा देनी होगी मुख्य परीक्षा में आपको ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन देखने को नहीं मिलेंगे इस परीक्षा में आपको लिखित क्वेश्चन पूछे जाएंगे इसके बाद आता है सबसे बड़ा पड़ाव और वह इंटरव्यू .

इंटरव्यू को पास करने के बाद ही आप इस परीक्षा के लिए सिलेक्ट किए जाएंगे दोस्तों अक्सर ऐसा होता है जब कोई कैंडिडेट इस परीक्षा में भाग लेता है तो वह प्रीलिम्स और मेंस परीक्षा पास कर लेता है।

लेकिन यदि इंटरव्यू भी क्लियर नहीं हो पता तो वह इस पद के लिए पत्र नहीं माना जाता है इन तीन चरणों में होने वाली परीक्षा को पास करने के बाद ही एसडीएम का पद प्राप्त किया जा सकेगा।

Read Also – 2024 में एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस का नया एप लॉन्च हुआ | hdfc life insurance app in hindi

SDM बनने के लिए कितना रैंक चाहिए? (SDM ke liye kitna rank chaye)

एसडीएम का पद हासिल करने के लिए रैंक इस बात पर निर्भर करती है कि जिस वर्ष आप परीक्षा दे रहे हैं उस वर्ष कितने पदों पर भर्ती निकाली गई है वैसे तो मुख्य तौर पर एसडीएम पद के लिए एक से लेकर 20 भी रैंक लाना होता है।

Read Also – 2024 में इंस्टाग्राम पर लाइक बढ़ाने का सबसे आसान तरीका जानिए | Instagram Par Like Kaise Badhaye

जिन कैंडीडेट्स कि यह रैंक आती है उन्हें यह पद दिया जाता है वैसे तो पदों के हिसाब से रैंक को बढ़ा भी दिया जाता है अधिकतर देखा होगा की टॉप 100 रैंक लाने परआईएएस अधिकारी का पद दिया जाता है और Rank इस बात पर भी निर्भर करती है कि आपकी केटेगरी से आते हैं उसमें भी आपको relaxation दिया जाएगा।

Read Also – 2024 में Loan Resource App से तुरंत लोन कैसे प्राप्त करे | Loan Resource App kya hai

एसडीएम के कितने पेपर होते हैं | sdm ke leye kitne paper hote hai

एसडीएम पद के लिए कितनी परीक्षाएं देनी होती है इस बारे में तो हम आपको पहले बता चुके हैं लेकिन कैंडिडेट जो भी इस परीक्षा में भाग लेता है उसे 2 पेपर से होकर गुजरना होता है दो पेपर प्रीलिम्स के होते हैं।

इसके बाद साथ पेपर 1 मेंस परीक्षा के लिए जाते हैं इसके बाद उम्मीदवार का साक्षात्कार लिया जाता है इस तरह इन सभी चरणों को पास करने के बाद एसडीएम बन जाते हैं।

Q. 12वीं के बाद एसडीएम कैसे बने?

यदि आप 12वीं के बाद एसडीएम बनना चाहते हैं तो आपको किसी भीकोर्स को करने के बाद ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करना है उसके बाद आप PSC या यूपीएससी की परीक्षा देकर आसानी से एसडीएम बन सकते हैं.

Q. एसडीएम बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

एसडीएम बनने के लिए आपको सबसे पहले ग्रेजुएशन करना होगा और उसके बाद यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करना है.

Q. एसडीएम बनने के लिए कितनी उम्र चाहिए?

सामान्य वर्ग – 21 से 32 वर्ष
एससी/एसटी वर्ग – 21 से 37 वर्ष
ओबीसी वर्ग – 21 से 35 वर्ष

Q. एसडीएम का दूसरा नाम क्या है?

एसडीएम का दूसरा नाम Sub Divisional Magistrate है.

Q. जिले में एसडीएम कितने होते हैं?

यह जिले पर डिपेंड करता है कि जिला कितना बड़ा है उसी हिसाब से उसे जिले में एसडीएम होते हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें हर जिले में एक DM होता है,

आज अपने जाना –  sdm kaise bane

दोस्तों आज के इस लेख में हमने आपको sdm kaise bane इसके बारे में विस्तार से सभी जानकारी बताइएभारतके लाखों युवाओं का सपना रहता है कि वह सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने के बाद एक प्रशासनिक अधिकारी बने।

लेकिन यह बोलने में तो सरल लगता है परंतु इस परीक्षा को निकालनाहर किसी के बस की बात नहीं है क्योंकि यूपीएससी भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है और इस परीक्षा को पास करने के लिए व्यक्ति कोकठिन परिश्रम करना होता है।

लेकिन आज हमने आपको एसडीएम कैसे बने औरएसडीएम बनने के लिए कैसे तैयारी की जाती है इससे जुड़ीसभी जानकारी बहुत ही सरल शब्दों में आपके लिए साझा की है।

उम्मीद करते हैं दोस्तों हमारे द्वारा बताई गई यह बहुमूल्य जानकारी आपको पसंद आई होगी इसी प्रकार यदि आपके मन में कोई और भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट जरूर करें और यह सभी जानकारी अपने मित्रों को जरुर शेयर करें धन्यवाद।

WhatsApp से आसानी से पैसे कमाएं 2024 | whatsapp se paise kaise kamaye

Best (+11 तरीक) इंस्टाग्राम अकाउंट डिलीट करने का सीधा तरीका यहां देखें 2024 | instagram id delete kaise kare

12 महीने लाखों रुपए कमाने का सरल बिज़नस आइडिया 2024 | business se paise kaise kamaye

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *